propeller

Monday, 4 April 2016

गुजरात में ‘भारत माता की जय’ के बिना कॉलेज में एडमिशन नहीं

गुजरात में ‘भारत माता की जय’ के बिना कॉलेज में एडमिशन नहीं

गुजरात। ‘भारत माता की जय’ पर नया विवाद छिड़ गया है। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के बयान के बाद इस मुद्दे को राष्ट्रवाद से जोड़ दिया गया। ताजा मामला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राज्य गुजरात का है। गुजरात के एक एजुकेशनल ट्रस्ट ने फैसला लिया है कि उनके इंस्टीट्यूट में एडमिशन के लिए बच्चों को फॉर्म पर भारत माता की जय लिखना होगा। अगर बच्चे ने यह राष्‍ट्रवादिता नहीं दिखाई तो उसे एडमिशन नहीं मिलेगा। गुजरात का यह ट्रस्ट भाजपा नेता दिलीप संघानी का है। श्री पटेल विद्यार्थी आश्रम ट्रस्ट की ओर से गुजरात में प्राइमरी, सेकेंडरी स्कूल के साथ कॉलेज भी चलाया जाता है। इन स्कूलों में 4500 बच्चे पढ़ाई करते हैं।
फॉर्म पर भारत माता की जय

फॉर्म पर भारत माता की जय लिखना अनिवार्य

बीजेपी नेता इस बारे में कहते हैं, ‘हमारी कोशिश है कि बच्चों में राष्ट्रवाद जगाया जा सके। इसी के तहत हम बच्चों से फॉर्म पर भारत माता की जय लिखने के लिए कह रहे हैं।’ भाजपा नेता दिलीप संघानी बताते हैं, ‘इन‍ दिनों शिक्षण संस्थाओं में देशविरोधी नारे लग रहे हैं। हम चाहते हैं कि नई पीढ़ी देश की इज्जत करना सीखे। इसीलिए हम अपने फैसले पर कायम हैं।’
दिलीप बताते हैं, ‘श्री पटेल विद्यार्थी आश्रम ट्रस्ट के संस्थापक स्वतंत्रता संग्राम सेनानी मोहन वीरजी पटेल थे। यह ट्रस्ट राष्ट्रवाद को लेकर अपनी जिम्मेदारी समझता है। इसीलिए हमने ए‍डमिशन फॉर्म पर भारत माता की जय लिखने को कहा है। अगर स्टूडेंट ऐसा नहीं करेंगे तो उन्हें हमारे स्कूलों में एडमिशन नहीं दिया जाएगा।’ हालांकि भाजपा नेता दिलीप संघानी के इस फैसले को राजनीति से जोड़कर भी देखा जा रहा है। विरोधियों का कहना है कि वह गुजरात भाजपा में अपना कद बढ़ाने के लिए यह विवाद पैदा कर रहे हैं।

इस पहले ‘भारत माता की जय’ पर हैदराबाद के सांसद असदुद्दीन ओवैसी, महाराष्‍ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़णवीस और योगगुरु रामदेव भी विवादित बयान दे चुके हैं। हालांकि एक दिन पहले सऊदी पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने मुस्लिम महिलाओं ने ‘भारत माता की जय’ के नारे लगाकर दुनिया को चौंका दिया था

चुनाव से पहले तीन जगहों पर दंगा करवाने की फिराक में योगी आदित्यनाथ!

कुशीनगर। समाजवादी पार्टी ने भाजपा सांसद योगी आदित्यानाथ पर गंभीर आरोप लगाए हैं। उप्र की सपा सरकार में कैबिनेट मंत्री राधेश्याम सिंह ने कहा है कि सरकार के खुफिया विभाग की रिपोर्ट के मुताबिक योगी आदित्यनाथ चुनाव से पहले तीन जगहों पर दंगा करवाना चाहते हैं। 
प्रदेश के कृषि एवं चिकित्सा शिक्षा राज्यमंत्री राधेश्याम सिंह ने कुशीनगर में एक समारोह में कहा कि खुफिया विभाग की सूचना है कि योगी आदित्यनाथ ने तीन ऐसे स्थान चिन्हित किए हैं, जहां वे दंगा करवाना चाहते हैं।
मंत्री ने साथ ही कहा कि भाजपा धर्म, जाति, सम्प्रदाय को मुद्दा बनाकर 2017 का चुनाव लड़ना चाहती है और हम पानी, बिजली, सड़क जैसी लोगों की समस्या के सवाल पर 2017 का चुनाव लड़ेंगे। मंत्री ने भाजपा पर जुबानी हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा को मुख्यमंत्री प्रत्याशी घोषित करने के लिए कोई चेहरा ही नहीं मिल रहा है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के विकास कार्य के सामने कोई नेता नहीं टिक पायेगा। सपा विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ेगी और फतह हासिल करेगी। 

नेपाल में स्वाइन फ्लू ने की एंट्री !

भारत से सटे नेपाल के जिलों में स्वाइन फ्लू ने अपना प्रकोप फैकना शुरू कर दिया है ! पोखरा , पाल्पा जिलों में स्वयंव फ्लू तेज़ी से फ़ैल रहा...